Posts

Showing posts from 2014

मेरी कहानी - शिवकन्या 92.7 big fm पर

Image
सुनिये मेरी लिखी कहानी -" शिवकन्या " नीलेश मिश्रा की जादुई आवाज़ में........
:-)

just click the link.. आप मेरी लिखी सभी कहानियां you tube पर सुन सकते हैं ! मेरा नाम और यादों का इडियट बॉक्स सर्च करें बस :-)

यादों के इडियट बॉक्स में - मेरी लिखी कहानी "शिवकन्या "


*******************************************************************************
दर्द का कोई आकार नहीं होता
दुःख का कोई रंग नहीं
महकती नहीं उदासियाँ 
मन के सारे भेद खोल देती है
एक आह !
उलझे बालों की लटें
कसी मुट्ठियाँ
और भिंचे दांत !!

उतरे चेहरे, शिकन पड़ा हुआ माथा पपडाए होंठ
आवाज़ की लर्जिश और गुलाबी डोरों वाली आँखे कर देती हैं चुगलियाँ !
वरना रंजो ग़म की दास्तानें यूँ सरेआम नीलाम न होतीं.....
~अनुलता ~

कहानी - मिष्टी

Image
पढ़िए मेरी लिखी कहानी -  "मिष्टी'
 जो मध्यप्रदेश जनसंदेश के साप्ताहिक "कल्याणी " में आज प्रकाशित हुई है |


 “ मिष्टी “
मुझे इसी घर में रहना है , इसी घर में...बस !! कहते हुए मिष्टी अमोल के गले से झूल गयी | अरे बाबा रुको तो ज़रा, देखने तो दो कि घर में कमरे कितने हैं, कैसे हैं , किराया कितना है , मकान मालिक कौन हैं , कैसे हैं ! कुछ देखे भाले बिना यूँ ही कैसे तय कर सकती हो तुम ? मैंने तय कर लिया है अमोल , मुझे इसी घर में रहना है... कितना प्यारा सा आँगन है , हरी दूब से ढंका हुआ और देखो किस तरह छितरे हुए हैं उस पर हरसिंगार ! ओ बाबा मुझे तो इश्क हो चला है इन फूलों से...... घर वाकई बहुत सुन्दर था | हरसिंगार के अलावा और भी मौसमी फूलों से क्यारियां भरी हुईं थीं | कोने में एक बांस का झूला लटका था , और सामने संगमरमर की कॉफ़ी टेबल | पीछे एक झरना सा बना हुआ था जिसमें से पानी बहने का मधुर स्वर जैसे आमंत्रण दे रहा हो |

 “अय्यर्स”
हाउस नंबर 44, न्यू मिनाक्षी एन्क्लेव घर के बाहर लगी नेम प्लेट पर लिखा हुआ था | अमोल ठिठक कर पढने लगा , तब तक दरवाज़ा खोल कर मिष्टी भीतर चली गयी और उसने कॉल बेल भी ब…

दैनिक जागरण के राष्ट्रीय संस्करण में मेरी किताब "इश्क तुम्हें हो जाएगा " की समीक्षा...............

Image
बदल रहा है मौसम
सर्द हवा की छुअन !
ठीक उस लड़की के नर्म स्पर्श की तरह
जिसने अभी अभी सीखा है प्रेम करना.....
यूँ आते हैं त्योहारों वाले दिन ! और यूँ आती हैं खुशियाँ............................................

दैनिक जागरण के राष्ट्रीय संस्करण में "रचनाकर्म " में मेरी किताब "इश्क तुम्हें हो जाएगा " की समीक्षा सीनियर रिपोर्टर Smita जी द्वारा.........
http://epaper.jagran.com/ePaperArticle/28-sep-2014-edition-National-page_9-9525-73308072-262.html
http://epaper.jagran.com/epaper/28-sep-2014-262-delhi-edition-national.html



मेरी लिखी कहानी - महक मिट्टी की - याद शहर में 92.7 big fm

आजकल लिख रही हूँ कहानियाँ  नीलेश मिश्रा के याद शहर के लिए....
92.7 BIG FM में ये कहानियां पढ़ते हैं नीलेश अपनी रूहानी आवाज़ में...................
आप भी सुनिये मेरी लिखी कहानी "महक मिट्टी की "

लिंक दे रही हूँ.....पढने से ज्यादा आपको सुनने में आनंद आएगा !

https://www.youtube.com/watch?v=cvPYY9jqcmo&index=2&list=PLRknjC5MPHa29hPAM0Mg1IfFEUuFkqeBx